कुछ और भी तलाशें

Tuesday, 3 February 2009

अमीर परिवारों की महिलायों ने चार दिन तक युवक से बलात्कार किया: युवक की हालत बेहद खराब

 कराची पुलिस ने एक युवक का अपहरण करने और उसके साथ बलात्‍कार करने के आरोप में तीन अज्ञात महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इन महिलाओं पर आरोप है कि इन्होंने इस युवक के साथ चार दिनों तक बलात्‍कार किया और जब उसकी हालत बिगड़ने लगी तो उसे कय्यूमाबाद नदी के पास फेंक दिया। पीड़ित युवक की उम्र 23 वर्ष है और उसका नाम खलील मोहम्‍मद है। 

पाकिस्तान के डेली टाइम्स की खबर है कि खलील, कराची के क्लिफटन (नीलम कॉलोनी) इलाके के एक छोटे से रेस्‍टोरेंट में वेटर का काम करता है। वह कुछ दिनों पहले ही रहिमयार खान शहर से कराची आया था। खलील ने बताया कि 27 जनवरी की रात को एक व्यक्ति ने रेस्‍टोरेंट में आकर कहा कि बाहर कार में बैठीं महिलाओं को खाना देकर आओ। ऑर्डर देने के बाद वह व्यक्ति कार की तरफ चला गया। खाना देने के लिए जैसे ही खलील कार की तरफ गया, कार में बैठीं महिलाएं ने कहा कि वह इस इलाके में नई हैं और उन्हें इलाके की जानकारी नहीं है। खलील के मुताबिक उनमें से दो महिलाएं लगभग 25 साल की थी, जबकि तीसरी 30 साल से ज्‍यादा उम्र की थी।

महिलाओं ने खलील से कहा कि वह उनके घर रोज खाना पहुंचा दिया करे और उनके साथ चलकर उनका घर देख ले। घर पहुंचने पर महिलाओं ने उसे पीने के लिए दूध जैसा द्रव दिया। जिसे पीने के बाद उसे नशा महसूस होने लगा। जैसे ही खलील को होश आया उसने देखा कि एक महिला उसके साथ अश्‍लील हरकतें कर रही थीं। महिलाओं ने चार दिन तक खलील के साथ दुराचार किया और उसके बाद उसे कय्यूमाबाद नदी के पास फेंक दिया। फिलहाल खलील की हालत काफी खराब है। उसके गुप्तांग से खून निकल रहा है और वह ठीक से चल भी नहीं पा रहा है।

रजा के मुताबिक महिलाएं कराची के पॉश इलाके क्लिफटन की हैं और अमीर परिवारों से ताल्लुक रखती हैं। 

मूल समाचार यहाँ देखा जा सकता है

4 comments:

Arvind Mishra said...

just unbelieable !

विनय said...

आप सादर आमंत्रित हैं, आनन्द बक्षी की गीत जीवनी का दूसरा भाग पढ़ें और अपनी राय दें!
दूसरा भाग | पहला भाग

रंजना said...

यह अविश्वसनीय नहीं.....
आज से करीब तीस वर्ष पहले इसी तरह की एक घटना राउरकेला (उड़ीसा) में घटी थी.लड़का तो इलाज के दौरान मर गया ,पर रसूखवाले पिताओं ने कुछ ही दिन लड़कियों को जेल में रहने दिया.मरे हुए लड़के पर ही रेप का केस चला और लड़कियों को कानून से साफ़ बचा लिया गया.

Anonymous said...

नारी सशक्तिकरण की मिसाल होगी नारिवादिओं के लिए