कुछ और भी तलाशें

Monday, 8 September 2008

पति की हत्या कर पत्नी प्रेमी संग फरार

सात फेरे लेने और जीवन भर साथ रहने की कसमें खाने के बाद भी एक रिश्ता बेमानी हो गया। दादरी कोतवाली क्षेत्र के राव विहार में शनिवार देर रात पत्नी ने प्रेमी के संग मिलकर पति की हत्या कर दी। महिला तीन बच्चों की मां है और मृतक डीडीए का कर्मचारी था। मर्डर की सूचना के बाद भी कोई कार्रवाई न हुई तो गुस्साए लोगों ने डेड बॉडी को जीटी रोड पर रखकर जाम लगा हंगामा काटा। घटना के बाद महिला, उसके तीन बच्चे और उसका प्रेमी फरार हो गए है। मृतक के पिता ने दादरी कोतवाली में पत्नी और उसके प्रेमी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

नवभारत टाइम्स के मुताबिक, खुसेर्दपुरा निवासी अजयपाल पुत्र सरदार सिंह पिछले एक साल से पत्नी बेबी उर्फ नीलम और तीन बच्चे के साथ दादरी की राव विहार कॉलोनी में रहता था। सरदार सिंह का कहना है कि उसके बेटे ने उसे किसी काम से रविवार को दादरी बुलाया था। जब वह रविवार की सुबह उसके मकान पर पहुंचा तो घर का गेट लगा हुआ था। जब वह गेट खोल कर अंदर गया तो उसका बेटा मरा हुआ मिला। इससे देख वह बिलखने लगा। उसके रोने की आवाज सुनकर आस-पास के लोग मौके पर इकट्ठा हो गए। घटना की सूचना लोगों ने पुलिस को दी।

3 comments:

ऋचा said...

आपने शीर्षक लगाया है-ये है आैरत। इसका अभिप्राय है कि आप इस घटना के परिपेक्ष्य में समूचे महिला समाज पर निशाना साध रहे हैं। यदि कोई पुरूष एेसा करे तो क्या सारे मर्दों पर उंगली उठाई जा सकती है।

बलबिन्दर said...

ॠचा जी, मैने शीर्षक लगाया है 'ये है औरत?' न कि 'ये है औरत।' प्रयुक्त शीर्षक के चलते ही आपका आरोप और जिज्ञासा स्वत: ही अप्रासंगिक माने जा सकते हैं।
और मैं कौन होता हूँ, निशाना साधने वाला। यह तो मात्र एक खबर है, जिसे पुन: सामने रखा गया है। कोई पुरूष ऐसा करता है तो, 'आधी दुनिया' कहती है कि सारे पुरूष एक जैसे ही होते हैं!
बेहतर होता, यदि आप दाहिनी ओर के संक्षिप्त विवरण 'इस ब्लॉग के बारे में' देख लेतीं।
आप आये, टिप्पणी दी, धन्यवाद।
पुन: पधारें।

राज भाटिय़ा said...

बलबिन्दर भाई आप ने तो इस जमाने मे होने वाली घटना का एक पहलू बताया हे, बहुत अच्छा, लेकिन इस समाज मे अच्छी ओर बुरी ओरते, अच्छे ओर बुरे आदमी यानि सब तरह के लोग होते हे, धन्यवाद