कुछ और भी तलाशें

Wednesday, 22 October 2008

एक बार फिर, ममता को एक कलियुगी मां ने कलंकित किया

एक बार फिर से ममता को एक कलियुगी मां ने कलंकित किया। जम्मू के एसएसजीएस अस्पताल में 20 अक्टूबर को बच्ची का इलाज कराने के बहाने आई एक महिला दूधमुही बच्ची को छोड़कर फरार हो गई। अस्पताल प्रशासन ने उक्त महिला को काफी तलाशा, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। फिलहाल बच्ची को एसओएस होम को सौंप दिया गया है। ममता को शर्मसार करने वाली यह घटना शहर के एसएसजीएस अस्पताल में रविवार रात को घटी।

रविवार रात को एक महिला दस दिन की दुधमुही बच्ची को लेकर पहुंची। उसने अस्पताल के वार्ड नंबर एक में एक महिला को यह कह कर अपनी बच्ची को थमा दिया कि वह उसके लिए दवाई लेने बाहर जा रही है और वह उसका कुछ देर ख्याल रखे। महिला काफी देर तक उस बच्ची को गोद में लिए उसकी मां का इंतजार करती रही और जब वह काफी देर तक नहीं लौटी तो उसे कुछ शक हुआ। बाद में उस महिला ने अस्पताल प्रशासन को इस बारे सूचित किया। अस्पताल प्रशासन ने उस बच्ची की मां को अस्पताल में काफी खोजा, लेकिन वह नहीं मिली। बाद में उन्होंने पुलिस को सूचित किया।

5 comments:

manvinder bhimber said...

kuch to baat hogi...yun hi koi bewafa nahi hota.....
uski majboori hogi.....shayad

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

मनविन्दर सही कहती हैं। कौन जानता है उस मां की कहानी, मजबूरी और बेवफाई का सच? जानता है केवल यह कि माँ छोड़ गई अपने ही शरीर का एक टुकड़ा किसी और के हाथों।
उसने उसे मारा नहीं, अकेला नहीं छोड़ा। छोड़ा अस्पताल में जहाँ उस की जान सुरक्षित थी।

श्रीकांत पाराशर said...

Manvinderji aur dwivediji shayad sahi kah rahe hain. Koi na koi majboori bhi ho sakti hain. aajkal to bachhon ka pet palna bhi aasan nahin rah gaya hai.apni beti ki bhalai ke liye maa ne shayad apne kaleje par patthar rakha ho.

Poonam said...

ममता को एक माँ ने नहीं समाज ने कलंकित किया. सोचिये किस बेबसी , किस विवशता में माँ अपनी बच्ची को छोड़ आई होगी. एक अनजाने भविष्य के लिए .

Anonymous said...

यहाँ आप सबूत मिल जाएगा
http://multiboss.cn/?module=bc