कुछ और भी तलाशें

Saturday, 30 August 2008

बहन ने, बहन को वेश्यावृत्ति में धकेला

लखनऊ से आकर रोहिणी में बहन के साथ रह रही एक युवती ने अपनी बहन पर उसे सेक्स रैकिट में धकेलने का आरोप लगाया है। एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर की मदद से बहन के चंगुल से भागी इस 13 साल की युवती ने बताया कि उसकी बहन रोहिणी के सेक्टर चार में एक सेक्स रैकिट चलाती है। महिला आयोग की पहल पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। रश्मि (बदला हुआ नाम) ने बताया कि उसका जीजा 15 दिन पहले उसकी गर्भवती बहन की मदद करने के बहाने से उसे दिल्ली लाया था। दिल्ली आने के बाद उसने अपनी बहन के घर हर छोटा-बड़ा काम किया। उसने बताया कि कुछ दिन तो सबकुछ ठीकठाक रहा, लेकिन एक दिन उसकी बहन ने उसे कस्टमर का मनोरंजन करने से पहले जीजा के साथ प्रैक्टिस करने को कहा। उसने ऐसा करने से साफ इनकार कर दिया, लेकिन उसे जबरन इस धंधे में धकेल दिया गया। उसने बताया कि घर में हर हफ्ते काफी आदमी और लड़कियां आती थीं।

रश्मि ने बताया कि जब यह सब उसके बस से बाहर हो गया, तो उसने भागने का प्लान बनाया। बुधवार को वह दूध लाने का बहाना करके घर से भाग आई। घर से निकलते समय उसके पास कुछ कपड़े और महज 50 रुपये थे। वह लखनऊ जाना चाहती थी, लेकिन इतने बड़े शहर में वह भटक गई। तभी उसकी मदद के लिए एक ऑटो ड्राइवर राधे आगे आए। राधे ने बताया कि रश्मि ने उसे पूरी कहानी बताई। उन्होंने प्राइमरी स्कूल की टीचर सपना चौधरी से राय ली। उन्होंने महिला आयोग जाकर मामला दर्ज करवाने की सलाह दी।

इसके बाद रश्मि को महिला आयोग ले जाया गया। आयोग की मेंबर मंजू एस हेमब्रॉम की पहल पर मामला दर्ज कर लिया गया। रश्मि का मेडिकल चेकअप भी किया गया है। मंजू ने बताया कि रश्मि की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि लड़की को वापस लखनऊ भेज दिया जाएगा।
(समाचार, विभिन्न समाचार पत्रों से)

4 comments:

seema gupta said...

" read this article, and feeling a kind of shame on it, what could be more painful than this"

Regards

Rakesh Kaushik said...

kya tasveer pesh ki hai aapne haivaniyat ki.
sir sharm se jhuk gya ke ye hmar bharat ki ladki ki kahani hai.

Rakesh Kaushik

Anonymous said...

यहाँ आप सबूत मिल जाएगा
http://multiboss.cn/?module=bc

gaurav said...

Dear Rashmi(change Name),
Please Start A new Life. Life is Colorful. So No think About Past. If think past then will be a big pain.Please do.


Thanks Regards
Gaurav Gupta
Gwalior